BHULEKH UTTAR PRADESH | यूपी (उप ) भूलेख ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल जमाबंदी | UP BHULEKH

By | May 5, 2020

ऑनलाइन खतौनी नकल यूपी भूलेख|UP Bhulekh in Hindi|Uttar Pradesh Bhulekh Khasra Khatauni|upbhulekh.gov.in |उत्तर प्रदेश भूलेख

UP BHULEKH – ज़मीन की तुलना अक्सर सोने से की जाती है। हमारे पास अगर कुछ बचत है जिसे हम कहीं निवेश करना चाहते हैं तो हमारे करीबी हमें ज़मीन में निवेश करने की सलाह देते हैं। ज़मीन का सौदा आमतौर पर फ़ायदे का सौदा होता है क्योंकि इसमें निवेश करके रिटर्न अक्सर दोगुने से भी ज्यादा मिलता है। हालांकि एक समस्या हमारे सामने निवेश करने से पहले हमेशा बनी रहती है कि ज़मीन में हम निवेश कर रहे हैं क्या वो ज़मीन कानूनी तौर पर सही है या नहीं। अक्सर हम यहां पर धोखा खा जाते हैं। इसलिए जमीन की सही जांच करके ही हमें निवेश करना चाहिए। इस संबंध में भूलेख हमारे काम आते हैं। आइए जानते हैं भूलेख से संबंधित पूरी जानकारी.

UP भूलेख क्या है? – UP BHULEKH ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल जमाबंदी in Hindi

भूलेख का अगर हम संधि-विच्छेद करें तो दो शब्द मिलेंगे भू+लेख। भू का अर्थ होता है भूमि और लेख का अर्थ होता है लिखना। मतलब भूमि से संबंधित लिखित रूप से जानकारी या भूमि का ब्यौरा। अब सवाल आता है कि भूलेख ज़रूरी क्यों है तो ये इसलिए ज़रूरी है क्योंकि इससे आपकी ज़मीन का ब्यौरा मिलता है या फिर किसी ज़मीन पर मालिकाना हक किसका होगा यह जानने के लिए भूलेख का होना आवश्यक है। ज़मीन का बंटवारा भी भूलेख की ही सहायता से होता है। सरकारी योजनाओं का लाभ लेने में भी भूलेख सहायक होते हैं।

यूपी भू-अभिलेख की जानकारी

http://upbhulekh.gov.in/ भूलेख वेब पोर्टल का निर्माण भूमि रिकार्ड को कंप्यूटरीकृत करने के लिए किया गया है। यूपी भूलेख पोर्टल खतौनी के पूरे जीवन चक्र को बनाए रखता है| इस पोर्टल पर हमें भू-अभिलेख के मालिक की जानकारी, भू-अभिलेख की जानकारी और भी काफी कुछ देख सकते है। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि वेब आधारित भूमि दस्तावेज़ प्रणाली 2 मई 2016 से प्रारंभ हुई थी। जिसे प्रदेश की समस्त तहसीलों में लागू कर दिया गया है।

तो चलिए जानते हैं कि आखिर कैसे यूपी भूलेख को ऑनलाइन निकाला जा सकता है-

  • सबसे पहला चरण तो यही है कि आपको UP भूलेख के वेब पोर्टल पर जाना होगा जिसका अड्रेसस http://upbhulekh.gov.in ये है।
  • इस वेबसाइट के अंदर आते ही आपको होमपेज दिखाई देगा। होम पेज में थोड़ा वक्त बिताते ही आपको खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नकल देखें विकल्प दिखाई पड़ेगा। आपको देर न करते हुए बस इसी विकल्प को चुनना है।
  • अब नया पेज खुलेगा। यह पेज आपसे कैप्चा कोड भरने को कहेगा। आपको जो कोड सामने दिख रहा है उसे भर दीजिये और फिर सबमिट पर क्लिक कर दीजिए।
  • कैप्चा कोड डालने के बाद आपको एक नया पेज दिखाई देगा जिसमे आपको अपने तहसील, गाँव, जिला, खसरा नंबर और पट्टे का ब्यौरा देना होगा। इसके अलावा अन्य जानकारियां जो पूछी गई हैं वह भी भर दें।
  • विकल्पों को चुनते वक़्त ध्यान रखें। सबसे पहले अपने जनपद का चुनाव करें उसके बाद तहसील के चुनाव और फिर सबसे आखिरी में अपने गाँव को चुने।
  • अपनी जमीन की जानकारी देने के लिए आप इन चार विकल्पों में से किसी एक का चुनाव कर सकते हैं। खसरा/गाटा संख्या से, खातेदार के नाम के जरिए, नामांतरण दिनांक के माध्यम से, खाता संख्या का उपयोग करके.
  • एक विकल्प चुन फिर विवरण को सही से भर दीजिये। भरने के बाद खोजे टैब पर क्लिक कर दीजिए।
  • प्रिंटआउट निकलवा लीजिए.
  • इस तरह आप अपना भूलेख देख सकते हैं।

Up Bhulekh Mobile App – यूपी मोबाइल ऐप के माध्यम से पाये जानकारी

यह जानकारी अब आपको आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध हो जायेगी। गूगल प्ले स्टोर पर यूपी Bulekh Land Record Online का एक ऐप मौजूद है। इस ऐप को अपने मोबाइल पर इंस्टॉल कर लें। इस ऐप के माध्यम से आप उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों का खसरा खतौनी का विवरण देख सकते है। इस ऐप को बेहद आसानी से आप इस्तेमाल कर सकते हैं।

सबसे पहले इस यूपी Bhulekh Land Record Online ऐप को इंस्टॉल कर लें फिर इसे ओपन करें। आपके सामने वहां कई राज्यों की लिस्ट सामने आ जायेगी। आप जिस राज्य के निवासी है या फिर आपको जिस जगह का ब्यौरा चाहिए वो सेलेक्ट कर लें। फिर आप एक एक स्टेप करके अपने जनपद, तहसील और उसके अंतर्गत आने वाले ग्राम को सेलेक्ट कर लें। यहां पर आप खाता नंबर, खातेदार का नाम या खसरा नंबर डालकर जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं।

यह थी यूपी भूलेख की जानकारी आपको हमारी जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट सेक्शन में लिखकर हमें ज़रूर बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *